Monday, March 28, 2011

जन्म दिन पर मिले आप से... स्नेह के लिए ... आप सब को आशीर्वाद !

आप सब को आशीर्वाद !

खुश रहो ,खुशहाल रहो ,
जीवन की हर खुशी से 
माला-मॉल रहो ...

भले ही मैं  अब उम्र में 
बड़ा हूँ ,
अपनी जवां उमंगो के 
बल पर खड़ा हूँ 
न छल,न कपट 
मन का मैं सच्चा हूँ 
इस लिए मैं अपने 
दिल से अब भी बच्चा हूँ ||

धन्यवाद ! एहसान के लिए होता है !
आप के स्नेह के लिए ...
सब को बहुत-बहुत आशीर्वाद ||

आप का अपना ....
अशोक"अकेला"



10 comments:

  1. भले ही मैं अब उम्र में
    बड़ा हूँ ,
    अपनी जवां उमंगो के
    बल पर खड़ा हूँ
    न छल,न कपट
    मन का मैं सच्चा हूँ
    इस लिए मैं अपने
    दिल से अब भी बच्चा हूँ

    वैसे भी कवि ह्रदय सदा बच्चा ही रहता है सलूजा साहब ! :)

    ReplyDelete
  2. सर जी, कवि तो कभी बुढे होते ही नही
    आपका आर्शीवाद बना रहे।

    ReplyDelete
  3. आपका आर्शीवाद बना रहे।

    ReplyDelete
  4. आपका आर्शीवाद बना रहे।

    ReplyDelete
  5. .

    न छल,न कपट
    मन का मैं सच्चा हूँ
    इस लिए मैं अपने
    दिल से अब भी बच्चा हूँ ...

    निसंदेह आपका मन निश्छल और सच्चा है । आपके स्नेह और आशीर्वाद के लिए आभार ।

    .

    ReplyDelete
  6. स्नेहाशीष आपका बना रहे । आभार सहित...

    ReplyDelete
  7. आर्शीवाद बनाए रहेना अपना

    ReplyDelete
  8. मन का मैं सच्चा हूँ
    इस लिए मैं अपने
    दिल से अब भी बच्चा हूँ
    नानू जी बहुत बहुत हार्दिक शुभकामनायें जन्म दिन पर -खिला रहे ये फूल हमेशा -खुशियाँ रहे लुटाता -बगिया अपनी हरी भरी हो -सुन्दर सुन्दर क्यारी -फुलवारी में बच्चे खेलें -हम से -मिलें रोज दिन राती -सुरेन्द्र कुमार शुक्ल भ्रमर५
    प्रतापगढ़ उ.प्र.

    ReplyDelete
  9. जन्म दिन पर हार्दिक बधाई यार चाचू,देर से आने का कारण ३१ मार्च का प्रेशर है. बस यूँ ही उमंगों के बल पर खड़े रहें सदा जवान बनकर और कहतें रहें 'अभी तो मै जवान हूँ ...'

    ReplyDelete

मैं आपके दिए स्नेह का शुक्रगुज़ार हूँ !
आप सब खुश और स्वस्थ रहें ........

Related Posts Plugin for WordPress, Blogger...