Wednesday, October 26, 2011

मेरे एहसास ,मेरे दिल की आवाज़ ......















आप सब को दीपावली और भाई-दूज के 
पावन-पर्व पर बहुत सारा स्नेह ,प्यार और 
शुभकामनाएँ....


"कुछ खट्टी .कुछ मीठी 
कुछ सच्ची .कुछ तीखी" ||

मेरे दिल की आवाज़ ....














कितने प्यारे ब्लाग के रिश्ते ,यह जो बने  आभासी 
इक टिप्पणी पा होते खुश ,न मिले छा जाये उदासी |

प्यार सब को दिया करो ,टिप्पणी की न फ़िक्र करो 
इन सब बातों से उपर है, यह छोटी बात!  जरा-सी |

अपनी-अपनी ढपली और  अपना-अपना राग 
कोई लिखे यहाँ कविता ,कोई सुनाए भीम-प्लासी |

सियासत से भरी है, यह सारी  दुनिया 
अपनी-अपनी चाल चले, यहाँ सब सियासी |

कभी-कभी पर, देख बेढंगी इनकी चाले 
दिल मेरा बोले, बन जाऊ अब सन्यासी |

तब पछताऊं,छोड़ के क्यों मैं अपना घर 
सोचूं में! क्योंकर  यूँ बना बनवासी |

बहन, बेटी, दोस्त मुझे मिले यहाँ सब 
सब बहुत ही प्यारे, यहाँ के निवासी |

मैनें देखी नफरत बड़ी ,दुनियां इस से भरी  पड़ी 
बस बुझे ,प्यार की प्यास, न रहे अब कहीं उदासी|

पर अब भी ढूंढे ,मेरी यह अखियाँ अपनी माँ को 
जिनके दरस को जीवन भर, तडप रही यह प्यासी |

दोनों हाथ जोड़ मांगूं माफ़ी सारे जग की माँ से  
माफ करो हे माता घंटे वाली अस्सी-चार चौरासी
|
कितने प्यारे ब्लाग के रिश्ते ,यह जो बने आभासी .... अशोक"अकेला"

दिवाली मुबारक हो ...२०११.
आप सब खुश और स्वस्थ रहें !!          

18 comments:

  1. चर्चा मंच परिवार की ओर से दीपावली की हार्दिक शुभकामनाएँ!
    आइए आप भी हमारे साथ आज के चर्चा मंच पर दीपावली मनाइए!

    ReplyDelete
  2. पोस्ट अच्छा लगा । मेरे नए पोस्ट पर आपका स्वागत है । दीपावली की शुभकामनाएं । धन्यवाद ।

    ReplyDelete
  3. बहुत सुन्दर और भावपूर्ण प्रस्तुती!
    आपको एवं आपके परिवार के सभी सदस्य को दिवाली की हार्दिक बधाइयाँ और शुभकामनायें !
    मेरे नए पोस्ट पर आपका स्वागत है-
    http://seawave-babli.blogspot.com/
    http://ek-jhalak-urmi-ki-kavitayen.blogspot.com/

    ReplyDelete
  4. वाह वाह ..
    कितने प्‍यारे ब्‍लॅाग के रिश्‍ते जो बने आभासी ..
    .. आपको दीपोत्‍सव की शुभकामनाएं !!

    ReplyDelete
  5. आपकी अभिव्यक्ति बहुत सुन्दर है,यार चाचू.
    सुन्दर प्रस्तुति के लिए आभार.

    आपके व आपके समस्त परिवार के स्वास्थ्य, सुख समृद्धि की मंगलकामना करता हूँ.दीपावली के पावन पर्व की बहुत बहुत हार्दिक शुभकामनाएँ.
    दुआ करता हूँ कि आपके सुन्दर सद लेखन से ब्लॉग जगत हमेशा हमेशा आलोकित रहे.

    ReplyDelete
  6. सुंदर रचना ..दीपावली की ढेरों शुभकामनाएं.....

    ReplyDelete
  7. प्यार सब को दिया करो ,टिप्पणी की न फ़िक्र करो
    इन सब बातों से उपर है, यह छोटी बात! जरा-सी |
    यही है सच्ची बात .... दीपावली की शुभकामनायें

    ReplyDelete
  8. भावपूर्ण रचना
    आपको और आपके परिवार को दीपावली की मंगल शुभकामनाएँ !

    ReplyDelete
  9. bahut hi sunderta se aapne hum sabhi tak apna aashirwad pahunchaya.....Deepawali ki shubhkamnaayein:)Happy Diwali Sir

    ReplyDelete
  10. बहुत भावुक होकर लिखी है यह ग़ज़ल ।
    लेकिन बहुत सुन्दर लिखी है ।

    आपको दीवाली की हार्दिक शुभकामनायें अशोक जी ।

    ReplyDelete
  11. मैनें देखी नफरत बड़ी ,दुनियां इस से भरी पड़ी
    बस बुझे ,प्यार की प्यास, न रहे अब कहीं उदासी|
    सुन्दर!
    शुभ दीपावली!

    ReplyDelete
  12. अशोक जी,...आपकी इस सुंदर रचना के भावों से सहमत हूँ,..बढिया पोस्ट...कभी हमारे लिंक में आइये स्वागत है
    दीपावली की हार्दिक शुभकामनाये....

    ReplyDelete
  13. आपको दीपावली की हार्दिक बधाई और शुभकामनाये सलूजा साहब !

    ReplyDelete
  14. आपको और आपके प्रियजनों को दीपावली की हार्दिक शुभकामनायें….!

    संजय भास्कर
    आदत....मुस्कुराने की
    पर आपका स्वागत है
    http://sanjaybhaskar.blogspot.com

    ReplyDelete
  15. प्रतक्ष या आभासी रिश्ते तो हैं जो कभी मन को गुदगुदा देता हैं ...

    ReplyDelete
  16. बहुत सही कहा आपने टिप्पणियों, से उदासी और खुशी तो छाती ही है मार्गदर्शन भी मिलता है और तारतम्यता भी बंधी रहती है, अपने अभिभावक के नही होने की कमी नही खलती है|
    शुभकामनायें!

    ReplyDelete
  17. सर्व कालिक एवं प्रासंगिक पोस्ट .शुक्रिया .

    ReplyDelete

मैं आपके दिए स्नेह का शुक्रगुज़ार हूँ !
आप सब खुश और स्वस्थ रहें ........

Related Posts Plugin for WordPress, Blogger...