Saturday, January 28, 2012

यादों के झूले....

तब १९६९ में .

और अब २०१२ में 
          
आज  शादी की ४३वीं वर्षगांठ पर .... 
यादें ....

यादों... के बवंडर,
दुखों की आंधियां...
एक सदियों पीछे ले जाता है 
और एक मीलों आगे....

वैसे तो आगे बड़ने को ही जिन्दगी मानते हैं 
पर कभी-कभी पीछे मुड कर देखना भी 
बड़ा सुखद लगता है ,अपने छोड़े हुए कदमों 
के निशां,जिन रास्तों से हम चल के आये 
उन्हें अपने पीछे  छोड़ आये ,यादे हमेशा हमारे 
साथ-साथ चलती हैं |पर अक्सर हम  उन्हें नजर-अंदाज 
करके बहुत आगे निकल आते हैं ,उनकी तरफ ध्यान 
ही नही जाता |फिर भी चलते-चलते एक नजर पीछे 
पड़ ही जाती है ,और हम फिर मुस्करा कर आगे  
बड जाते हैं |जब जिन्दगी के रास्तों पर चलते-चलते 
थकने लगते हैं ,तब-तब हम पीछे छूटे रास्तों को 
पहचानने की कोशिश करने लगते हैं |

पर नजरें अब कमजोर हो चुकी हैं ,शरीर बुढ़ापे  की 
और बढ़ चला है ,यादाशत धोखा देने लगी है |
अब सब कुछ धुधला चुका है |पर यादें हैं की आती 
ही जाती हैं ....यादें...यादें और अब बस यादें ...
"अपने बोलने से मुकरना तो  सभी को आता है
अपने लिखे को झुठलाना समझाओ तो जाने" 

यादों  के  बवंडर  जब चलते हैं
 तो सदियों पीछे ले जाते हैं|

 दुखो की आँधी जब चलती है
 तो मीलों आगे पटकती है|

 यही तो वक्त है...

 भूली यादों को बुलाने का
 अपने बचे हुए वक्त से
 कुछ ओर वक्त घटाने का|

कुछ याद करके
 रो दिए...
 और कुछ याद करके
 मुस्कराने का|

 जीने के लिए....

 कुछ तो बहाना चाहिए
 जी लू में भी यादों में 
 उठाऊ फायदा इस बहाने का|


न वो हम को भूले 
न हम उन को भूले


लौट के पिछली यादों में 
हम झूल रहे यादों के झूले ... 

अशोक"अकेला"




42 comments:

  1. समृतियाँ जीवन के सारे रंग समेटे होती हैं..... विवाह की वर्षगांठ पर हार्दिक बधाई आपको...

    ReplyDelete
  2. कुछ तो बहाना चाहिए
    जी लू में भी यादों में
    उठाऊ फायदा इस बहाने का|

    जरूर, विवाह वर्षगांठ की हार्दिक बधाई, और ढेरों शुभकामनाएं , सलूजा साहब !

    ReplyDelete
  3. विवाह के ४३वें वर्ष की ढेरों शुभकामनायें, प्रसन्नता सरस बरसती रहे।

    ReplyDelete
  4. बहुत सुन्दर लेखन...यादें हमें जोड़े रखती हैं बीते कल से...
    अनेकों शुभकामनाएँ...जोड़ी सलामत रहे...
    सादर.

    ReplyDelete
    Replies
    1. शुभकामनाओं के लिए ...
      बहुत-बहुत आभार !

      Delete
  5. मन के भावो को शब्द दे दिए आपने......

    ReplyDelete
  6. अशोक जी , ४३वीं शादी की वर्षगांठ या शादी की ४३वीं वर्षगांठ ! :)
    खैर मज़ाक छोड़ते हैं .
    जब हमसफ़र साथ हो तो यादें और भी सुहानी लगती हैं .
    शादी की वर्षगांठ आप दोनों को बहुत बहुत मुबारक हो .

    ReplyDelete
    Replies
    1. सटीक मज़ाक ....पर सच !
      गलती सुधार ली गई |आभार !
      खुश रहें !

      Delete
    2. सबसे पहले अशेष शुभकामनायें ! और अब आगे ...

      दराल साहब के कहने से एक सुधार किया है अब दूसरा सुधार करें तो जाने :)

      जवानी श्वेत श्याम और बुजुर्गियत रंग रंगीली...या इलाही ये माजरा क्या है :)

      Delete
    3. अली साहब ,सबसे पहले शुभकामनाओं के लिए आप का आभार !

      सुना तो आप ने भी होगा :-)?
      बुड्डी घोड़ी ,लाल लगाम ! बताएं ..इसमें नया क्या है :-))))

      खुश रहें !

      Delete
  7. बहुत सुन्दर,सार्थक प्रस्तुति।

    ऋतुराज वसंत पंचमी की हार्दिक शुभकामनाएँ।

    ReplyDelete
  8. न वो हम को भूले
    न हम उन को भूले


    लौट के पिछली यादों में
    हम झूल रहे यादों के झूले ...
    बधाई बसत पंचमी की .मगर लगता है कुछ ऐसा मेरा हम दम मिल गया .
    हमें तुम मिल गए हम दम सहारा और क्या होगा ,के तुम मेरे सहारे हो सहारा और क्या होगा .बधाई २८ जनवरी की इस मीठी सी परिपक्व प्रेम वर्ष गांठ की .सलामत रहो ,रोशन तुमि से दुनिया रौनक तुम्ही जहां की सलामत रहो ....

    ReplyDelete
  9. आज के दिन के लिया आपको दिल से शुभकामनायें ....

    कुछ यादे ता उम्र साथ रहती हैं ...

    ReplyDelete
  10. विवाह के वर्षगांठ पर सुन्दर प्रस्तुति...
    इस शुभ अवसर पर हार्दिक बधाई
    एवं बहुत शुभ कामनाएँ ....
    आज वसंत पंचमी है शुभ अवसर पर आपके विवाह की वर्षगांठ है
    वसंत पंचमी की हार्दिक शुभ कामनाएँ ....

    ReplyDelete
  11. विवाह की वर्षगांठ पर आपको हार्दिक बधाई और शुभकामनाएं !
    आपकी ये प्रस्तुति भी बेहद पसंद आई!
    आपको बसंत पंचमी की भी शुभकामनाएँ!

    ReplyDelete
  12. shaadi ki varshgaanth par sahastron badhaai.sorry der se pahuchi.bahut sundar bhaav purani golden memories ke chitron ke saath padhkar bahut achcha laga.may god bless you have a long long loving life.

    ReplyDelete
    Replies
    1. आपकी उत्कृष्ट रचना आज चर्चा मंच पर देखी |

      विवाह की वर्षगांठ पर आपको हार्दिक बधाई
      और शुभकामनाएं |

      Delete
  13. विवाह के ४३वें वर्षगांठ की ढेरों शुभकामनायें!

    ReplyDelete
    Replies
    1. आप की शुभकामनाओं के लिए ..
      बहुत आभार !

      Delete
  14. ਲਖ ਲਖ ਬ੍ਧਾਯਿਯਾਂ ਸਰ ਜੀ

    ReplyDelete
  15. न करता शिकायत जमाने से कोई
    अगर मान जाता मनाने से कोई
    न मेरी निगाहों से सागर छलकते
    जो तौबा न करता पिलाने से कोई ||
    वाह! आज अशोक भाई पुराने रंग में दिखे .
    मुबारक ये रंग ,जीने के संग .

    ReplyDelete
  16. सबसे पहले तो देर से आने के लिए माफी :) दूसरा आपको शादी की सालगिराह बहुत-बहुत मुबारक हो...यादें ही तो जीवन का आधार है सर यह न हो तो शायद जीवन में मज़ा ही न हो क्यूंकी यही तो वो सौगात है जीवन की जो जीवन भर साथ रहती है...बहुत अच्छी प्रस्तुति ....

    ReplyDelete
  17. विवाह के ४३वें वर्षगांठ की ढेरों शुभकामनायें!

    नया ब्लॉग

    http://hindidunia.wordpress.com/

    ReplyDelete
    Replies
    1. आप की शुभकामनाओं के लिए ...
      बहुत-बहुत आभार!

      Delete
  18. बहुत बेहतरीन और प्रशंसनीय.......
    मेरे ब्लॉग पर आपका स्वागत है।

    ReplyDelete
  19. विवाह की वर्षगांठ पर आपको हार्दिक बधाई
    और शुभकामनाएं

    ReplyDelete
  20. lots of wishes and tons of blessings for both of you !!

    ReplyDelete
  21. बेहतरीन सुन्दर,मीठी प्रस्तुति।

    ReplyDelete
  22. विवाह की ४३ वीं वर्षगाँठ पर आपको एवं भाभीजी को ढेर सारी बधाइयाँ एवं शुभकामनायें! बहुत सुन्दर लगी तस्वीरें ! उम्दा प्रस्तुती!

    ReplyDelete
  23. विवाह की वर्षगांठ पर आपको हार्दिक बधाई
    पहली बार आप के ब्लॉग पर आना हुआ,बहुत ही उम्दा लिखते है आप....उम्मीद है फिर जरुर आना होगा इस ब्लॉग पर....

    ReplyDelete
    Replies
    1. आप की बधाई और शुभकामनाओ के लिए ...
      आप का आभार !

      Delete
  24. आप सदा यूँ ही मुस्कराते रहे
    जीवन की सारी खुशियाँ पाते रहे
    ईश्वर आपकी जोड़ी सलामत रखे
    हरदम शादी की वर्षगांठ मनाते रहे,

    अशोक जी,४३ वी शादी की वर्षगाँठ की बहुत२ बधाई शुभकामनाए...
    २ फरवरी को मेरी भी शादी को ४० वर्ष पूरे किये,

    WEL COME TO MY NEW POST ...40,वीं वैवाहिक वर्षगाँठ-पर...

    ReplyDelete
  25. कुछ याद करके रो दिए...
    कुछ याद करके मुस्कराने का|

    पहली बार आना हुआ, वर्षगाँठ की बधाइयाँ !

    ReplyDelete
  26. बहुत बहुत बधाई शादी की ४३ वर्षगाँठ पे ... देरी से आने के लिए क्षमा चाहता हूँ ... पर आना सार्थक हवा ... कुछ पुरानी यादें आपकी पढ़ के अच्छा लगा ...

    ReplyDelete
  27. यादों के भवंडर जब चलते हैं
    तो सदियों पीछे ले जाते हैं|
    दादा बवंडर कर लें .

    ReplyDelete
    Replies
    1. कर लिया भाई ! सुधार के लिए ....
      आभार !

      Delete
  28. बहुत बहुत बधाई!
    Belated wishes!
    Regards,

    ReplyDelete
  29. tum jiyo or raho saath hamesha.....yahee to hai jeene ka saleeqa...yaadeN jahaN saaltee haiN,waheeN bandhan bhee to haiN jeewan ka......agar yaadeN na hotiN to jeewan kitna badrang hota.....inhee rangoN maiN doobe rahiye,,,or jeete rahiye, khush rahiye,,,,,
    anonymous2

    ReplyDelete

मैं आपके दिए स्नेह का शुक्रगुज़ार हूँ !
आप सब खुश और स्वस्थ रहें ........

Related Posts Plugin for WordPress, Blogger...